Search Engine Marketing (SEM) क्या है? पूरी जानकारी

0
search-engine-marketing-kya-hai

आखिर यह search engine marketing kya hai और SEM kya hai or what is search engine marketing in Hindi ? इस तरह के कई सारे सवाल आपके दिमाग में भी आ रहे होंगे यदि आप ब्लॉगिंग कर रहे हो

लेकिन आज हम आपके इस सवाल का जवाब बिल्कुल आसान शब्दों में देंगे किसको  सर्च इंजन मार्केटिंग का इस्तेमाल करना चाहिए और किसे नहीं करना चाहिए आखिर SEO  और SEM  में क्या अंतर है

दोस्तों आप दिन रात एक करके आर्टिकल लिखते हो और serp सर्च इंजन रिजल्ट पेज  पर टॉप 10 में आने के लिए बहुत समय लग जाता है और कई बार तो वह पोस्ट दूर दूर तक दिखाई नहीं देती लेकिन आपने अक्सर देखा होगा आपकी पोस्ट के ऊपर गूगल एड्स की मदद से कई सारे आर्टिकल टॉप में रैंक करते हैं

आखिर ऐसा क्यों होता है आइए जानते हैं कि इसके पीछे क्या कारण छुपा हुआ है

SEM क्या है और इसे कैसे पहचाने?

दोस्तों जैसा कि आप नीचे इमेज में देख सकते हो हम google के सर्च इंजन में जब कोई keyword search करते हैं तो हमें अक्सर दो प्रकार के रिजल्ट देखने को मिलते हैं एक  होता है ऑर्गेनिक सर्च इंजन रिजल्ट और दूसरा इनऑर्गेनिक सर्च इंजन रिजल्ट 

जब आपके क्यूरी पर कोई रिजल्ट show होता है तब वेबसाइट के सामने कई बार  ad लिखा हुआ होता है जिसका मतलब है कि यह वेबसाइट गूगल एडवर्ड के जरिए सर्च इंजन रिजल्ट पेज में display हो रही है 

Search Engine Marketing क्या है?

सर्च इंजन मार्केटिंग डिजिटल मार्केटिंग की वह शाखा है जिसमें आपको अपने content को गूगल के सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर टॉप पर show करवाने के लिए कुछ पैसे गूगल एडवर्ड्स को देने होते हैं जिससे वह आपके वेबसाइट को टॉप पर दिखता है

Search engine marketing को search engine advertising भी कहा जाता है दोनों का मतलब समान ही होता है . जहां एक तरफ हम ऑर्गेनिक रिजल्ट्स गूगल के सर्च इंजन रिजल्ट पर देखते हैं वहीं दूसरी ओर इनऑर्गेनिक रिजल्ट्स सर्च इंजन पेज हमेशा टॉप पर रहते हैं 

ऐसा इसलिए होता है क्योंकि Google Ads एक मध्यस्थ (mediator) की तरह काम करता है जहां पर एक तरफ विज्ञापनदाता (advertiser) अपने ऐड को गूगल पर डिस्प्ले करवाता है वहीं दूसरी तरफ प्रकाशक (publisher) इस ऐड को अपने प्लेटफार्म पर डिस्प्ले करता है

Search engine result page पर paid traffic लेकर आना ही सर्च इंजन मार्केटिंग का मुख्य उद्देश्य होता है जहां पर कई तरह की एड्स चलाई जाती है जैसे की social media advertising, display advertising, broadcast advertising, image ads, text ads, banner ads, Video ads and native advertising, etc

SEM kya hai यह एक paid search advertising है जहां पर व्यापारी को गूगल को कुछ पैसे देने होते हैं जिससे वह अपने प्रोडक्ट या सर्विस को सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर टॉप में show करा सके

थोड़ा Google Ads के बारे में

यह गूगल का ही सबसे ज्यादा  पॉपुलर एडवर्टाइजमेंट प्लेटफार्म है जहां पर एडवरटाइजर ऐड कैंपेन चलाते हैं ताकि अपने वेबसाइट या ब्लॉग को promote कर सके

गूगल एड्स ना सिर्फ गूगल में बल्कि Bing और Yahoo जैसे अन्य सर्च इंजन में भी अपनी एडवर्टाइजमेंट को दिखाता है और इसी वजह से यह सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला ऐड प्लेटफार्म है

यहां तक आप जान ही गए होंगे कि search engine marketing kya hai और sem kya hai and search engine marketing in Hindi

SEM के Ads Payment Options

  1. PPC (pay per click)
  2. CPC (cost per click)
  3. PPC (pay per call) for mobile search user
  4. CPM (cost per thousand impression)
  5. Paid search ads
  6. Paid search advertising

>> इन्हें भी पढ़ें : Social Media Optimization kya hai | SMO कैसे करते हैं ?

Google तय कैसे करता है कि कौन से विज्ञापन प्रदर्शित करने हैं?

Google के SERP (search engine result page) में ज्यादा से ज्यादा 7 ad दिखाई देते हैं और आखिर उनकी position और ad rank कैसे तय होती है आइए देखते हैं

गूगल के सर्च इंजन में किसी भी वेबसाइट की पोजीशन तय करने के लिए गूगल ऑक्शन बेस्ड सिस्टम को यूज करता है नीचे दी गई इमेज में आप देख सकते हैं एक फार्मूले का इस्तेमाल किया जाता है जहां पर क्वालिटी स्कोर को मैक्सिमम बीड़ी के साथ मल्टीप्लाई किया जाता है तब जाकर आपकी ऐड पोजीशन डिसाइड होती है

Auction Based Ranking System

Keyword: सबसे पहले आपको Best keywords research Technique का इस्तेमाल कर एक कीवर्ड ढूंढना होता है जिस पर आप अपना ads show करवाना चाहते हो

Bid Amount: यह वह अमाउंट होती है जिसको आपको गूगल को pay करना होता है जो आपके कीवर्ड के ऊपर निर्धारित होती है

Quality Score: यह  इंगित करता है की आपका विज्ञापन आपके टारगेट ऑडियंस की जरूरतों और search intent  को कितनी अच्छी तरह से पूरा करता है

इसके अलावा आपकी ads की क्वालिटी स्कोर कई सारे फैक्टर जैसे कि keyword relevancy , landing page, click through rate, ad relevance, historical performance and various relevant factors पर निर्भर करती है

अगर आपकी क्वालिटी स्कोर और बीड अमाउंट दोनों ही अच्छे होंगे तो आपको नंबर वन पोजिशन पर ऐड  देखने को मिलती है लेकिन आपकी क्वालिटी स्कोर अच्छी नहीं है और सिर्फ बीड अमाउंट ज्यादा दिया है फिर भी आपको दूसरे या तीसरे या फिर किसी अन्य पोजीशन पर ऐड देखने को मिलती है

इसलिए quality Score को बेहतर बनाने की कोशिश कीजिए क्योंकि पेड़ सर्च एडवरटाइजिंग में क्वालिटी स्कोर बहुत मायने रखती है आपकी एड पोजीशन को तय करने के लिए

>> इन्हें भी पढ़ें : Google Adwords में keyword match types in hindi क्या होता हैं ?

SEM और SMO में क्या अंतर है?

SEOSEM
Organic trafficInorganic traffic
Takes timeTakes money
Works on google algorithmsWorks on google ads platforms
Good for global keywordGood for product keyword
Free traffic lifetimeNeed money each time
Result show to anyone around globeResult show to targeted audience
Difficult to learnEasy to learn
Long term benefitsShort term benefits
  1. Seo यह एक लोंग टर्म प्रोसेस होती है जहां पर ट्रैफिक बहुत कम आता है
  2. Sem इसकी मदद से हम बहुत ही कम समय में ट्रैफिक को अपनी वेबसाइट पर लाते हैं
  3. Seo यह बिल्कुल ही फ्री प्रोसेस होती  हैं जहां पर आपको सर्च इंजन में रैंक  करने के लिए कोई पैसे नहीं देने
  4. Sem इसमें आपको कुछ अमाउंट pay करना होता है यदि आपको सर्च इंजन रिजल्ट पेज पर ऊपर आना है तो
  5. Seo इसके लिए हमें डिजिटल मार्केटिंग की नॉलेज होनी चाहिए
  6. Sem यदि आपके पास गूगल एडवर्ड की ही नॉलेज है तो भी काम चल जाएगा
  7. Seo इसकी मदद से आपकी वेबसाइट पर ऑर्गेनिक और लंबे समय तक ट्रैफिक आता रहता है
  8. Sem यह एक इनऑर्गेनिक ट्रैफिक लाता है जिसका मतलब है  जब तक आप कैंपेन  चलाओ गे या गूगल को पैसे दोगे तब तक आपके साइट पर ट्रैफिक आता रहेगा

FAQ

1. क्या Blogger के लिए SEM की जरूरत होती है?

यह निर्भर करता है की आप Blogging सिर्फ अपने शौक या जूनून को follow करने के लिए कर रहे हो या फिर आप एक अपना product और service को promote करना चाहते हो वह भी बहुत ही काम समय में तब आप search engine marketing technique का इस्तेमाल कर सकते हो क्योंकि इसमें आपको कुछ amount Google को pay करना होता है तभी जाकर आपका content search engine पर सबसे ऊपर display होता है यदि आपका उद्देश्य सिर्फ blogging के जरिये money earnings करना है तो आप इसको try मत कीजिये।

2. Google Ads में CPC क्या होता है?

CPC का full form होता है cost per click यानी की आपको ad पर कोई visitor click करता है तो आपको कितने amount Google को देना होता है यह इस बार पर decide किया जाता है जब आप Google ad campaign चलाते हो इसे एक तरह से internet marketing भी कह सकते है जहाँ पर आपको किसी keyword पर CPC decide करना होता है।

Pro Blogging tips : यदि आप ब्लॉग्गिंग करते हो और आपको अपनी पोस्ट को SEM  से भी ऊपर rank करना है तो वह मुमकिन है Featured Snippet की मदद से जिसके लिए आप हमारा यह Featured snippet क्या है ? आर्टिकल  जरूर पढ़िए 

Conclusion

दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि आपको आज की यह search engine marketing kya hai और sem kya hai के बारे में पूरी जानकारी मिली हो 

यदि आपके मन में इस article को लेकर कोई भी doubts हैं या आप चाहते हैं की इसमें कुछ सुधार होनी चाहिए तब इसके लिए आप नीच comments लिख सकते हैं. यदि आपको यह post search engine marketing kya hai हिंदी में बताओ पसंद आया या कुछ सीखने को मिला तब कृपया इस पोस्ट को Social Networks जैसे कि Facebook, insta और Twitter इत्यादि पर share कीजिये.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here